अनुगमन !

>> 19 February 2010

यह महज इत्तेफाक नहीं
कि
हम शोषित और अव्यवस्थित है ।

व्यवस्थित सोच से उत्पन्न समाज में
श्रंखलित व्यवस्था के पायदान पर खड़े हो
शोर भर मचाना
हमारी फितरत है, बस
और कुछ नही ।

हम सोचते हैं कि
कोई आये, और
हम बन जायें अनुयायी ।
कि शायद
जो दिला सके हमें
पुनः आजादी ।

मगर कौन ?
उन सबको हम
बहुत पहले मार चुके हैं ।
और
हमने सीखा है तो
सिर्फ
अनुगमन !

9 comments:

वन्दना अवस्थी दुबे 19 February 2010 at 17:11  

हम सोचते हैं कि
कोई आये, और
हम बन जायें अनुयायी ।
कि शायद
जो दिला सके हमें
पुनः आजादी

बहुत सार्थक और सुन्दर रचना. सच है पहल कोई नहीं करना चाहता, बातें चाहे जितनी भी कर लें. अनुयायी होने की आदत सी हो गई है.

अमिताभ श्रीवास्तव 19 February 2010 at 18:11  

anilji,
samaz, vyavstha aour dour se upaj rahaa he aajkal ek aakrosh, aour ykeen maaniye..yahi he vo beej jisase badegaa poudha aour vraksh...samay chahtaa he itihaas bhi..ek kranti avshymbhavi he.

डिम्पल 19 February 2010 at 19:08  

अनुयायी बनना तो ठीक है पर अगर आगु अँधा मिल जाये तो खुद भी डूबे पीछे चलने वाले भी...खूबसूरत कविता..

प्रकाश पाखी 19 February 2010 at 19:28  

हम सोचते हैं कि
कोई आये, और
हम बन जायें अनुयायी ।
कि शायद
जो दिला सके हमें
पुनः आजादी ।

मगर कौन ?
उन सबको हम
बहुत पहले मार चुके हैं ।
और
हमने सीखा है तो
सिर्फ
अनुगमन !
adbhut!

laveena 19 February 2010 at 20:58  

शोर भर मचाना
हमारी फितरत है, बस
और कुछ नही ।
sach hi hai....

हमने सीखा है तो
सिर्फ
अनुगमन ! vry true....

Apanatva 19 February 2010 at 22:36  

sach to yahee hai
bahut sunder bhav liye hai aapkee kavita.........

मनोज कुमार 20 February 2010 at 02:00  

बहुत अच्छी प्रस्तुति।
इसे 20.02.10 की चिट्ठा चर्चा (सुबह ०६ बजे) में शामिल किया गया है।
http://chitthacharcha.blogspot.com/

RaniVishal 20 February 2010 at 02:55  

Bahut hi vichaarniya hai aapaki yah rachana..!
http://kavyamanjusha.blogspot.com/

Priya 20 February 2010 at 08:30  

शोर भर मचाना
हमारी फितरत है, बस

ham anuyayi bhi banana chahte hai to kiske ? Paisa, takat, pad....kabhi kisi saraswati premi ya gareeb ka auyayai dekha hai aapne ? ya fir dharmik baba ke auyayiyon ki bheed hai. Nice post

Post a Comment

आपकी टिप्पणी यदि स्पैम/वायरस नहीं है तो जल्द ही प्रकाशित कर दी जाएगी.

Related Posts with Thumbnails

  © Blogger template Simple n' Sweet by Ourblogtemplates.com 2009

Back to TOP