जो मर गये या मार दिये गये

>> 12 April 2010

जो मर गये या मार दिये गये
वे तराजू के पलड़ों की तरह हैं
जिन्हें तौला जाता रहा है
बारी-बारी
कम और ज्यादा की तरह ।

फर्क सिर्फ इतना है कि
कुछ भुला दिये गये थे, मरने से पहले
और कुछ भुला दिये जायेंगे, मरने के बाद
हमेशा के लिये ।

रहेगी तो बस गिनती
उन सभी जमा सरकारी कागजों में
जो धूल चाटते हैं
बंद किसी कोने में ।

बावजूद इसके
भूख और नंगेपन के साथ
फिर से जमा हो जायेंगे
हाथ में बन्दूक लिए
मर गये या मार दिये गये
श्रेणी के लिए
अनगिनत उम्मीदवार ।

तुम बस खुश रहना
क्योंकि
फिलहाल तुम उनमें से कोई नहीं ।

14 comments:

परमजीत बाली 12 April 2010 at 10:07  

सुन्दर रचना है।बधाई।

kunwarji's 12 April 2010 at 11:30  

"तुम बस खुश रहना
क्योंकि
फिलहाल तुम उनमें से कोई नहीं"


जी दिल मे नष्तर की ज्यू उतर गयी ये पन्क्तिया!
कुन्वर् जी,

Shekhar kumawat 12 April 2010 at 13:10  

SAHI HE

NICE

http://kavyawani.blogspot.com/

SHEKHAR KUMAWAT

sangeeta swarup 12 April 2010 at 15:15  

कलम ने तलवार का काम किया...बहुत अच्छी प्रस्तुति..

दिगम्बर नासवा 12 April 2010 at 17:43  

टील उठती है दिल में यह सब देख कर ... बहुत ही संवेदना के साथ लिखा है आपने अनिल जी .... अच्छी रचना ...

Aparna 13 April 2010 at 10:44  

bahut acha hai......

सुशील कुमार छौक्कर 13 April 2010 at 20:55  

फर्क सिर्फ इतना है कि
कुछ भुला दिये गये थे मरने से पहले
और कुछ भुला दिये जायेंगे मरने के बाद
हमेशा के लिये ।

अंदर तक चोट करती आपकी रचना।

kshama 13 April 2010 at 22:36  

जो मर गये या मार दिये गये
वे तराजू के पलड़ों की तरह हैं
जिन्हें तौला जाता रहा है
बारी-बारी
कम और ज्यादा की तरह ।

फर्क सिर्फ इतना है कि
कुछ भुला दिये गये थे मरने से पहले
और कुछ भुला दिये जायेंगे मरने के बाद
हमेशा के लिये ।
Oh! Stabdh hun..

सीमा सचदेव 14 April 2010 at 15:58  

तुम बस खुश रहना
क्योंकि
फिलहाल तुम उनमें से कोई नहीं
ek ajeeb saa romaanch paidaa karti hai ye panktiyaan

श्रद्धा जैन 14 April 2010 at 20:24  

bhookh aur nangepan ke saath khade ho jaayenge
balidaan dene ko ........

kya kahun ........
bas dua hai ki kuch badle ......

Vandana ! ! ! 15 April 2010 at 18:48  

तुम बस खुश रहना
क्योंकि
फिलहाल तुम उनमें से कोई नहीं
sochne ko majboor kar rhai ye line ab to....

Post a Comment

आपकी टिप्पणी यदि स्पैम/वायरस नहीं है तो जल्द ही प्रकाशित कर दी जाएगी.

Related Posts with Thumbnails

  © Blogger template Simple n' Sweet by Ourblogtemplates.com 2009

Back to TOP