घोषित प्रेमी - प्रेमिका उर्फ़ 'COMMITTED'

>> 16 May 2009

नया दौर अपने साथ ढेर सारी सौगातें लेकर आता है .... आजकल उनमें से एक है 'committed' अर्थात मैं किसी सज्जन पुरुष या सज्जन स्त्री से committed हूँ ...दूसरे लफ्जों में कहें तो घोषित प्रेमी-प्रेमिका ...चलो अच्छा है कुछ घोषणाएं होती तो है ...वरना लोगो ने आजकल घोषणाएं करना बंद सा ही कर दिया है ....वरना एक टाइम था राजा-महाराजाओं का ...जब समय समय पर ढेर सारी घोषणाएं होती रहती थीं ...

आज के समय में ज्यदातर लड़के और लडकियां घोषित प्रेमी-प्रेमिका हैं ....हाँ अगर प्रतिशत की बात करें तो लडकियां कहीं ज्यादा अधिक घोषित प्रेमिका उर्फ़ 'committed' हैं.... और आजकल इस तरह की घोषणा करना बहुत आसान हो गया है... अब आपको चिल्ला चिल्ला कर गली गली जाकर कहने की जरूरत नहीं कि भाइयों और बहनों मैं committed हूँ ...ऑरकुट जैसी तमाम कम्युनिटी हैं जिसके माध्यम से आप ये घोषणा कर सकते हैं कि आप committed हैं...

सोचो कि अगर हीर-राँझा, लैला-मजनू के ज़माने में ऐसा होता तो उन्हें कितनी दिक्कत होती ...कितनी परेशानियों का सामना करना पड़ता....बेचारों को जगह जगह जाकर चिल्ला चिल्ला कर कहना पड़ता कि हम committed हैं ...अर्थात घोषित प्रेमी-प्रेमिका....

पर ये 'committed' शब्द है बड़ा कमाल का ....बहुत फायदे हैं इसके जी ...बहुत सी मंशाएं हो सकती हैं इसके पीछे ....जैसे committed लिखने से लड़की को लाइन मारने वालों में कमी आ जाती हो ....जैसे committed लिखने से आपने अपने घर वालों और रिश्तेदारों को अपनी मंशा जाहिर कर दी कि अब चाहे जो भी हो जाये हम तो प्यार करते हैं और उसी से शादी करेंगे...committed लिखने से आपको आपकी सहेलियों या दोस्तों में इज्जत की नज़रों से देखा जाने लगे ...कि भाई इसकी तो गर्ल फ्रेंड या बॉय फ्रेंड है

जैसे committed लिख कर आप स्वतंत्र हो जाते हैं चाहे जिस के साथ घूमने के ....तभी ज्यादातर समय पर पता चलता है कि लड़की committed तो किसी दूसरे लड़के के साथ है पर डेट पर किसी और के साथ गयी है... बहुत से committed हो जाने पर फक्र महसूस करते हैं तो अपनी ख़ुशी को शेयर करने के लिए ऑरकुट जैसी कम्युनिटी पर लिख देते हैं "committed"..... मतलब लो जी अब तो हम भी committed हो गए... अब कोई दोस्त ऊँगली नहीं उठा सकता कि कैसे लड़के हो तुम्हारी कोई गर्ल फ्रेंड भी नहीं या फिर कैसी लड़की हो तुम्हारा कोई आशिक भी नहीं ....क्या फायदा तुम्हारे लड़की होने का ....तो इस तरह की बात शांत करने के लिए ये बहुत अच्छा तरीका है

अगर प्रतिशत निकला जाये तो लड़कियां ज्यादा committed मिलेंगी और लड़के कम ...फिर मन में ख्याल आता है कि इतनी ज्यादा संख्यां में लड़कियां committed हैं किन लड़कों के साथ ...कहीं एक लड़के के साथ २-३ लड़कियां committed तो नहीं ...अब लड़के तो वैसे ही बदनाम हैं ...धोखा देने के मामले में....हाँ पर 4 रोज़ पहले पता चला कि मेरे एक दोस्त का प्यार 5 साल से चल रहा था ...पर लड़की ने कहीं और किसी के साथ शादी पक्की कर ली....उसे मेरे दोस्त का साथ 'Irritate' करता था ...वो अपनी पूरी जिंदगी उसके साथ नहीं बिता सकती थी ....जबकि वो अपनी मर्ज़ी से उसके साथ कई बार शारीरिक सम्बन्ध बना चुकी थी....और मेरे दोस्त के साथ committed रहते हुए भी वो अपने होने वाले पति के साथ डेटिंग करती थी ...चलो जिस से शादी कर रही है उसके साथ ही खुश रह ले

वहीँ कुछ लड़कों से सुना है कि यार अगर committed लिख लो तो दूसरी लड़कियां आसानी से बात कर लेती हैं ...खूब घुल मिल कर बात करती हैं ....शायद उन्हें committed लड़कों पर भरोसा होता है कि ये अच्छे लड़के हैं ...यहाँ तक कि वो हम जैसे committed लड़कों से खूब फ्लर्टिंग करती हैं... committed लडकियां अपने बॉय फ्रेंड से खूब लडेंगी, रूठेंगी, खरी खोटी सुनाएंगी ....और अपने अन्य पुरुष दोस्तों से अच्छे से पेश आएँगी...प्यार से बात करेंगी...अगर बॉय फ्रेंड लाइन पर है तो उसे वेटिंग में डालकर अन्य दोस्त का फ़ोन committed करेंगी...उनके साथ बाहर घूमने का प्लान बनायेंगी ...पर अगर बॉय फ्रेंड कह दे बाहर घूमने के प्लान के बारे में तो 'घर वाले क्या सोचेंगे या घर वाले इजाज़त नहीं देंगे कहेंगी'.....खैर ये committed शब्द है बड़ा कमाल का

कुछ लड़के-लडकियां अपना ये ख्वाब तब पूरा कर पाते हैं जब उनके घर वाले उनकी शादी पक्की करते हैं ...तब कहीं जाकर वो अपने प्रोफाइल पर committed लिख पाते हैं ...और जब उनकी कोई सहेली या दोस्त पूँछता है ..तब मुस्कुरा कर कहते हैं कि शादी तय हो गयी है ...चलो अच्छा है ये वाला committed उस वाले committed से जुदा तो है

तो आजकल के इस दौर में ये committed शब्द बड़ा ही यूजफुल हो गया है ....बस आप अपने आपकी घोषणा कर दीजिये कि आप committed हैं और निश्चिंत हो जाइये ....बस एक बार आप घोषित प्रेमी-प्रेमिका बन गए तो आपकी चाँदी ही चाँदी है ....
---------------------------------------------------------------------



24 comments:

sudhir 16 May 2009 at 12:09  

haan bhai is baat par to humne bhi gaur farmaya hai ....maza aaya aaj ka lekh padhkar

Manorma 16 May 2009 at 12:24  

main bhi aisi ladkiyon se aaye din roo-b-roo hoti rahti hoon ...par phir bhi sabhi ladkiyaan aisi nahi hain

gargi gupta 16 May 2009 at 12:30  

kya baat hai aap to bhut jayada achchha likhne lage hai
good
or choti se bat ka falsafa banane main mahitr bhi ho gay hai
good ...in fact very good

sujata 16 May 2009 at 13:14  

very nice, quite funny. The point on the social networking communities like orkut is also very well noted. A good post, different from your usual style.

anuradha srivastav 16 May 2009 at 13:30  

हा हा हा हा मज़ेदार..........

रश्मि प्रभा... 16 May 2009 at 13:39  

रोचक लेख,कम उम्र में काफी परिपक्व दृष्टिकोण और विचार.....

pallavi trivedi 16 May 2009 at 14:19  

आपने तो बढ़िया रिसर्च कर मारा कमिटमेंट पर.....यह भी एक नया आयाम है!

दिगम्बर नासवा 16 May 2009 at 15:36  

क्या बात है अनिल जी....बहूत खोज करी है आपने................पर मजा आ गया पढ़ कर

PD 16 May 2009 at 16:24  

:)
sahi hai guru...

राजीव जैन Rajeev Jain 16 May 2009 at 16:48  

मजेदार

वैसे अपन भी कमीटेड हैं

http://www.orkut.co.in/Main#Profile.aspx?rl=ls&uid=1424109444222485014

दिनेशराय द्विवेदी Dineshrai Dwivedi 16 May 2009 at 18:25  

कमिटेड होना कौन बुरी बात है? हम भी तो कमिडेट हैं जी। और पीरियड मत पूछना बस दो-तीन दिन में 34 साल होने को है।

Mahesh Sindbandge 17 May 2009 at 12:58  

LOLZ....


Good..i dint knew the word "committed" can bring a smile on my face, for it always brings seriousness...

Well you have put light on the pro's and con's of committed ness...Are you committed too... :P just wondering..:Man i liked ur "shaili"..must attempt like you sometime..:)

Keep writing..:)

गौतम राजरिशी 18 May 2009 at 00:43  

सच कहा अनिल...
कमिटमेंट की उलझी कहानी...
दिलचस्प लेखनी

woyaadein 18 May 2009 at 11:08  

नए ज़माने के नए अंदाज को बखूबी पेश किया है आपने. "committed" शब्द के सभी पहलुओं पर रौशनी डाली है. लगता है काफी खोज-बीन की है इस बारे में आपने. काफी मनोरंजक रही यह प्रस्तुति. चलते-चलते एक बात और कहना चाहूंगा कि आपकी पुरानी प्रोफाइल फोटो ज्यादा अच्छी थी मुकाबले नयी वाली के. नयी वाली भी ठीक है पर मुझे पहले वाली ज्यादा पसंद आई.

साभार
हमसफ़र यादों का.......

Harkirat Haqeer 18 May 2009 at 14:21  

तो आजकल के इस दौर में ये committed शब्द बड़ा ही यूजफुल हो गया है ....बस आप अपने आपकी घोषणा कर दीजिये कि आप committed हैं और निश्चिंत हो जाइये ....बस एक बार आप घोषित प्रेमी-प्रेमिका बन गए तो आपकी चाँदी ही चाँदी है ....

वर्तमान दौर के प्रेमियों पर अच्छी निगाह रखते हैं आप......!!

अनिल कान्त : 18 May 2009 at 14:45  

aap sabhi ko pasand aaya uske liye shukriya

Neha 18 May 2009 at 15:50  

lekh to bahut hi accha laga,majedaar hai.khair mujhe to'committed'shabd ke baare main nahi pata tha.haan;jab bhi kisi se chat karo to tisra sawaal yahi hota hai ki,aap ka koi boy friend hai?nahi jawaab dene par wo kuch aise react karte hai jaisse hum kisi doosre grah se aayi hai....

Babli 19 May 2009 at 06:18  

आपकी टिपण्णी के लिए बहुत बहुत शुक्रिया!
बहुत ही बढ़िया, मज़ेदार और दिलचस्प लेख लिखा है आपने! मुझे बेहद पसंद आया!

ज्ञानदत्त पाण्डेय | Gyandutt Pandey 19 May 2009 at 09:21  

वाह! बड़ी अच्छी डिग्री है -
लल्लन परसाद, बी.ए., कमिटेड! :)

श्रद्धा जैन 19 May 2009 at 18:57  

aapki baat ko padh kar hansi bhi aayi likhne ka dhang bahut rochak tha

aap waqayi bhaut prabhaavshali lekhani rakhte hain

Nirmla Kapila 20 May 2009 at 10:54  

vah vah kya sateek likha hai bhai maan gaye ab to ham bhi comment dene ke liye committed hain

SFA 27 May 2009 at 21:57  

really wat a blog...yaar kamal hai aap khud to committed nahi hai lekin doosre ke committed hone ka bada sahi ullekh kiya hai ..

Post a Comment

आपकी टिप्पणी यदि स्पैम/वायरस नहीं है तो जल्द ही प्रकाशित कर दी जाएगी.

Related Posts with Thumbnails

  © Blogger template Simple n' Sweet by Ourblogtemplates.com 2009

Back to TOP